Artificial jewellery Business in Hindi | कृत्रिम आभूषण बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

Artificial Jewellery Business

Artificial jewellery Business आज के समय में महिलाओं के बीच में बहुत पॉपुलर है। प्रत्येक नारी की चाहत होती है की वह खूब सज संवर के रहे यह प्रत्येक नारी की पहली पसंद होती है। नारी के रूप को ज्यादा महत्व दिया जाता है और आभूषण इनके रूप में चार चाँद लगा देता है। श्रृंगार तो मानो इनका जन्मसिद्ध अधिकार है महिलाओ के श्रृंगार की बात करें और आभूषण का नाम न आये तो बात अधूरी रह जाएगी। आज हम बात करेंगे आभूषण यानि गहनों की। सोने, चांदी, हीरे, मोती के गहने पहनने के शौक़ीन तो सभी हैं परन्तु महंगे होने के कारण मध्यम एवं निम्न वर्गीय परिवारों की महिलाओं की इच्छाएं अधूरी रह जाती हैं। इनकी इच्छाओं की पूर्ति हेतु मार्केट्स में आर्टिफीसियल ज्वेलरी की लम्बी श्रृंखला मौजूद है जो बिलकुल सोने चांदी के जैसे ही रहते हैं लेकिन उनकी तुलना में बहुत सस्ते दामो में मिल जाते हैं।

आजकल के समय मे कृत्रिम गहने की demand सोने चांदी की ज्वेलरी से ज्यादा है क्योंकि सोने चांदी की ज्वेलरी बहुत ज्यादा महंगे होते हैं इसलिए इनको सभी लोग अफोर्ड नहीं कर सकते हैं तथा किसी भी बड़े प्रोग्राम पार्टी में इन्हें पहनकर जाना बहुत रिस्की होता है। दूसरी तरफ आर्टिफीसियल ज्वेलरी इनकी तुलना में बहुत सस्ती होती है इनको कहीं भी पहनकर जाने में कोई रिस्क नहीं होता है।  

दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं आप लोगों को artificial jewellery बनाने का व्यवसाय शुरू करने के बारें में बताऊंगा जिसे पढ़कर आप लोग भी Artificial jewellery Business शुरू कर सकते हैं और काफी ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- कॉस्मेटिक शॉप कैसे खोलें ? 

आर्टिफीसियल ज्वेलरी क्या है ? (What is Artificial jewellery Business in Hindi?)

आर्टिफीसियल ज्वेलरी औरतों को पहनने के लिए एक प्रकार का सोने चांदी के गहनों का विकल्प है जो सोने चांदी की तुलना में सस्ते दर पर उपलब्ध धातुओं जैसे निकिल, लेड कॉपर, कैडमियम और ब्रास आदि से बनती है यें गहने तुलनात्मक रूप से बहुत सस्ते होते हैं परन्तु लुक वही देते  हैं पहली नजर में देखने वाला यही कहता है अरे ये तो असली गहने हैं कितने का खरीदा है।  

 फ्यूचर डिमांड (Artificial jewellery Business in India)

artificial jewellery की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ने वाली है क्योंकि आबादी बढ़ती जा रही है और इसे पहनने वाली औरतों की भी आबादी बढ़ रही है। सभी औरतें सोने चांदी के गहने पहनने में सक्षम नहीं है उनकी आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है की वह सोने चांदी के गहने खरीद कर पहन सके ऐसे में वें आर्टिफीसियल ज्वेलरी को ही पहनकर अपनी इच्छा पूरी करना चाहेंगी। इस लिए इन कृत्रिम गहनों की मांग कभी कम नहीं होगी। इसके अलावा इन गहनों को पहनकर कहीं जाने में कोई रिस्क नहीं होता है अर्थात छीन जाने या खो जाने का मानसिक तनाव नहीं रहता है इसलिए इन गहनों का उपयोग बड़े घर की महिलाएं भी करने लगी हैं। सोने और चांदी की बढ़ती कीमतों के कारण आर्टिफीसियल ज्वेलरी बिज़नस में अभी और भी ऊंचाइयां हासिल करने की बड़ी संभावना है। आर्टिफीसियल ज्वेलरी इंडस्ट्री के विकसित होने का प्रमुख कारण उनका सस्ता होना और खूबसूरत डिजाईन है।  

यह किससे बनता है (Artificial jewellery making materials)

औद्योगिक स्तर पर artificial jewellery business शुरू करने के लिए निम्नलिखित चीजों की जरूरत पड़ती है- 

  • एल्युमीनियम धातु 
  • ब्रास(पीतल)
  • स्टोन 
  • टेराकोटा(मिट्टी)
  • ऊनी धागा 
  • कुंदन 
  • फैब्रिक ग्लू 
  • बीड्स 
  • मोती 

इसकी शुरुआत कैसे करें (How to start artificial jewellery business)

artificial jewellery business शुरू करने के लिए पहले आपको इसके बारे में नॉलेज होना बहुत जरूरी है। Artificial jewellery making के लिए या तो आप किसी इंस्टिट्यूट से प्रशिक्षण ले सकते हैं या किसी आर्टिफीसियल ज्वेलरी के वर्कशॉप में कुछ दिन काम करके अनुभव ले सकते हो। इसके बाद ही आप अपना  बिज़नस स्टार्ट करो तो ज्यादा अच्छा रहेगा और अपने आसपास के मार्केट्स के ज्वेलरी शॉप्स में एक छोटा मोटा सर्वे भी कर सकते हो जिससे आपको इस बिज़नस के बारे में थोड़ा बहुत आईडिया तो हो ही जायेगा। 

इसे भी पढ़ें- सेनेटरी पैड्स बनाने का बिज़नस कैसे स्टार्ट करें ?

लोकेशन 

Artificial jewellery manufacturing business को स्टार्ट करने के लिए ज्यादा जगह की आवश्यकता नहीं है यह तो एक छोटे कमरे से शुरू किया जा सकता है परन्तु शॉप लोकेशन बहुत मायने रखता है। आपको इस बिज़नस की starting किसी ऐसे जगह पर करनी चाहिए जहाँ ज्यादा भीड़भाड़ रहती हो। विशेषकर महिलाओं की भीड़ जैसे कॉस्मेटिक शॉप गैलरी, गारमेंट्स गैलरी, फैशन हाउसेस, ब्यूटीपारलर सेंटर आदि या महिला डिग्री कॉलेज आदि के सामने ज्वेलरी शॉप खोलने पर आपके प्रोडक्ट्स की बिक्री बहुत ज्यादा होगी।

आवश्यक मशीनरी एवं उपकरण (Artificial jewellery making machine)

artificial jewellery बिज़नेस को शुरू करने हेतु निम्नलिखित उपकरणों की जरूरत पड़ती है- 

  • imitation jewellery casting machine
  • rubber mold
  • hammer
  • pliers
  • needle
  • file tool
  • scissors
  • hand gloves
  • spoons
  • stove with LPG

कुल लागत पूँजी

Jewellery Business Ideas in Hindi का व्यवसाय शुरू करने हेतु आपके पास कम से कम एक से डेढ़ लाख रुपये होने चाहिए। इसमें किसी बड़ी मशीन की जरूरत नहीं होती है। इसमें मानव श्रम (मैन पॉवर) की महत्ता ज्यादा है इसमें लेबर ज्यादा रखने की जरूरत पड़ेगी यदि आप ज्यादा उत्पादन करना चाहते हैं तो आप शुरुआत में थोड़ा रॉ मटेरियल लेकर उत्पादन शुरू कीजिये रेस्पोंस मिलने पर अपना उत्पादन और बढ़ा सकते हैं।  

 

Artificial Jewellery Business
Artificial Jewellery Making Raw Materials

गहने बनाने का प्रोसेस (Artificial jewellery making Process)

विभिन्न टूल्स एवं छोटी छोटी मशीनों की सहायता से इन गहनों को बड़ी ही सावधानी से तैयार किया जाता है। सबसे पहले रॉ मटेरियल को मिक्स करके तैयार किया जाता है फिर इसे विभिन्न आकार के सांचो में ढाला जाता है। ढलाई हो जाने के बाद इन गहनों की फिनिशिंग की जाती है, तत्पश्चात इन पर कलर पोलिश किया जाता है इन सब प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद  आर्टिफीसियल ज्वेलरी तैयार होते हैं। 

पैकिंग 

इन गहनों की पैकिंग के लिए ट्रांसपेरेंट पोलीथीन के डिब्बे प्रयोग में लाये जाते हैं, जिसमे ऊपर से ही इन गहनों को देखा जा सकता है इन डिब्बों में पैकिंग ज्वेलरी की काउंटिंग करके की जाती है क्योंकि इनकी सेलिंग प्रति इकाई के हिसाब से होती है। थोक माल भेजने के लिए बड़े-बड़े गत्तों में पैक करके इनको भेजा जाता है।   

इसे भी पढ़िए – नोटबुक बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें? पूरी जानकारी

लाइसेंस

इस बिज़नस को स्टार्ट करने के लिए आपको सबसे पहले जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराना होगा जो आज के समय में किसी भी बिज़नस को स्टार्ट करने के लिए भारत सरकार ने अनिवार्य कर रखा है। इसके बाद यदि आप चाहते हैं की अपने ब्रांड के नाम से अपना प्रोडक्ट बेंचे तो आपको ट्रेडमार्क ब्रांड रजिस्ट्रेशन कराना होगा इसके बाद आप अपना बिज़नस आसानी से रन कर सकते हैं।  

मार्केटिंग

आप किसी भी प्रोडक्ट की कितने अधिक मात्रा में मैन्युफैक्चरिंग कर रहे हों इस फैक्ट से आप के इनकम पर असर नहीं पड़ने वाला है बल्कि कितने लार्ज स्केल पर प्रोडक्ट सेल कर रहे हो यह मायने रखता है जितनी अधिक आपके प्रोडक्ट की बिक्री होगी उतनी अधिक आपके बिज़नस की कमाई बढ़ेगी। अतः आप अपने प्रोडक्ट को ज्यादा से ज्यादा सेल करने के तरीके खोजिये। अपने आसपास के तथा दूर के हर मार्केट्स में जाकर ज्वेलरी एवं कॉस्मेटिक शॉप्स पर संपर्क बनाकर उनको होलसेल रेट पर अपना माल दीजिये इस प्रकार से आप अपनी बिक्री बढ़ा सकते हैं।

आप अपने प्रोडक्ट्स की सेलिंग बढ़ाने के लिए Amazon और Flipkart पर अपना अकाउंट बना सकते हैं इसके बाद में आपके पास जितने भी प्रकार के गहने हैं वहां पर लिस्ट कर सकते हैं और Imitation Artificial jewellery Online सेल कर सकते हैं ऐसा करके आप काफी अच्छा प्रॉफिट प्राप्त कर सकते हैं।

artificial jewellery से जुड़ी कुछ विशेष बातें-

  1. इस बिज़नस में आपको सदैव इस बात का ध्यान रखना है की आपके द्वारा तैयार किये गए गहने एकदम यूनिक होने चाहिए।
  2. समय समय पर आप रिसेंटली released लेटेस्ट मूवीज की नायिकाओं द्वारा पहने हुए गहनों की डिजाईन के गहने भी बना सकते है। इन गहनों का नामकरण आप उस मूवी के नाम पर रख सकते हैं ये हॉट सेलिंग आइटम होते हैं इनकी डिमांड मार्केट में बहुत ज्यादा होती है।
  3. सदैव प्रयास यह करें की इन गहनों पर पोलिश किये गोल्डन या सिल्वर कलर जल्दी उतर न जाएँ अर्थात पोलिश अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए।
  4. आपका प्रयास यह होना चाहिए की भिन्न-भिन्न समुदायों की औरतों को ध्यान में रखते हुए उनके मनपसंद गहने तैयार किये जाएँ।
  5. इन गहनों का लुक बहुत ही आकर्षक होना चाहिए जिससे महिलाओं को तुरंत पसंद आ जाये।    

इनकम (artificial jewellery business profit)

आर्टिफीसियल ज्वेलरी बिज़नस में कमाई बहुत ज्यादा है बस गहनों की डिजाईन खूबसूरत एवं आकर्षक होनी चाहिए जिससे वह कस्टमर को पसंद आ जाए जिसकी मनचाही कीमत आपको  मिल जाती है। इस बिज़नस में प्रॉफिट मार्जिन लगभग दुगुना है क्योंकि देखा गया है कि लागत से दो गुना अधिक मूल्य रखने पर भी आर्टिफीसियल ज्वेलरी को महिलायें बड़ी आसानी से खरीद लेती हैं, आपके द्वारा बनाये गए गहने उनको पसंद आना चाहिए बस।  

निष्कर्ष

मुझे आशा एवं पूर्ण विश्वास है की आपको artificial jewellery business स्टार्ट करने का आईडिया जबरदस्त एवं हेल्पफुल लगा होगा यदि आप इस पोस्ट से थोड़ा भी लाभान्वित हुए हों तो प्लीज कमेन्ट करके जरूर बताइयेगा और अपने दोस्तों को ज्यादा से ज्यादा शेयर करना मत भूलियेगा आपके द्वारा मिलने वाले रेस्पोंस से हमें बहुत अधिक प्रेरणा मिलती है जिससे आपके लिए नए नए बिज़नस आइडियाज लाते रहते हैं धन्यवाद। 

इसे भी पढ़ें-

 

About Ved Prakash Yadav


Leave a Comment

Your email address will not be published.