Bath Soap Making Business in Hindi | Best Formula & Manufacturing Process

bath soap making business

Bath Soap Making Business एक ऐसा बिज़नस है जिसके प्रोडक्ट्स की जरूरत शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे न हो। दोस्तों सौन्दर्य और ख़ूबसूरती वह शब्द है जो हर व्यक्ति को पसंद है। हर व्यक्ति खूबसूरत दिखना चाहता है और वह हमेशा साफ़ सुथरा दिखना चाहता है, इस कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका साबुन की होती है। बाजार में कई तरह के सस्ते महंगे साबुन आते हैं। लोग अपनी आय क्षमता के अनुसार साबुन खरीदते हैं, साबुन की मांग हर घर में हर सीजन में बनी रहती है। साबुन भी दो तरह के आते हैं एक नहाने वाला, दूसरा कपड़ा साफ़ करने वाला साबुन। ज्यादातर मांग नहाने वाले साबुन की ही होती है। 

इस प्रकार से बाज़ार में नहाने के साबुन की मांग को देखते हुये नहाने का साबुन बनाने का उद्योग एक अच्छा व्यवसाय हो सकता है। आज के पोस्ट में मैं आप लोगों को नहाने का साबुन बनाने का व्यवसाय Bath soap making business के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दूंगा ताकि आप इसे पढ़कर अपना बिज़नस आसानी से स्टार्ट कर सको।

बाज़ार सर्वेक्षण (MARKET SURVEY)

Bath Soap Making Business स्टार्ट करने से पहले आपको अपने लोकल मार्केट्स में बिकने वाले बाथ सोप की क्वालिटी और रेट का एनालिसिस कर लेना चाहिए, जिससे आपको इस बिज़नस में होने वाले मुनाफे के बारें में एक मोटा अनुमान हो जायेगा। इस व्यवसाय में कम्पटीशन बहुत ज्यादा है। बाज़ार में साबुन बनाने वाली कई मशहूर कंपनिया पहले से मौजूद है जैसे लाइफबॉय, लक्स, डेटोल, डव, संतूर, पिअर्स, मोती, पतंजलि हल्दी चन्दन आदि। आप भी अपना एक ब्रांड फिक्स करके अच्छे क्वालिटी का साबुन बनाकर और शुरुआत में तुलनात्मक रेट कम करके बिक्री कर फेमस हो सकते हैं और अपना बिज़नस अच्छे से रन कर सकते हैं।

फैक्ट्री लोकेशन  

आप अपनी फैक्ट्री उस जगह पर लगायें जहाँ पर यातायात आवागमन की सुविधा हो तथा विद्युत् कनेक्शन उपलब्ध हो जिससे फैक्ट्री का कच्चा माल लाने में एवं तैयार माल ले जाने में असुविधा न हो, यदि आपकी फैक्ट्री शहरी क्षेत्र में स्थित है तो और अच्छा है क्योंकि ज्यादातर दुकाने शहरों में ही खुली होती हैं जहाँ आप का माल बिकने में आसानी रहेगी। 

Raw Material for Bath Soap Making Business

चूंकि आप Bath Soap Making Business शुरू करना चाहते हो इसलिए आप इसके रॉ मटेरियल की क्वालिटी से समझौता नहीं कर सकते हैं। नहाने का साबुन बनाने हेतु निम्नलिखित कच्चे माल की आवश्यकता होगी-

  • SOAP NOODLES- यह पाम आयल, कोकोनट आयल आदि से बना होता है।
  • STONES POWDER- यह साबुन का पूरक पदार्थ होता है। 
  • TALCUM POWDER इसका भी प्रयोग साबुन को मुलायम बनाने हेतु किया जाता है। 
  • COLORS- यह साबुन को विभिन्न प्रकार का रंग देने हेतु प्रयोग किया जाता है
  • PERFUME- इसका प्रयोग साबुन को सुगन्धित बनाने के लिए किया जाता है।
  • SODIUM HYDROXIDE
  • POTASSIUM HYDROXIDE
  • SEA ALGAE, ALOE VERA, HONEY

साबुन बनाने के लिए आवश्यक मशीनरी (Bath soap making machine)

bath soap making business
bath soap making machine

Bath Soap Making Business स्टार्ट करने हेतु आपको निम्न मशीनों एवं उपकरणों की जरूरत होगी-

  • स्टिक ब्लेंडर यह सोप नूडल्स को जल्दी गाढ़ा कर देता है। 
  • माइक्रोवेव  इस पर मिश्रण को गर्म किया जाता है। 
  • मोल्ड (सांचा) इन सांचो के आकार के साबुन का निर्माण होता है। 
  • मिक्सिंग मशीन इस मशीन से सोप नूडल्स और स्टोन पाउडर को मिलाया जाता है। 
  • पैकेजिंग मशीन  यह साबुन को पाउच में पैक करने का काम करती है।
  • सोप प्रिंटिंग मशीन  यह मशीन साबुन को विभिन्न आकार में ढालने का काम करती है। 
  • ग्लव्स साबुन बनाते समय सुरक्षित रहने हेतु सदैव दस्ताने का प्रयोग करना चाहिए। 
  • थर्मामीटर  इसका उपयोग टेम्परेचर मापने हेतु किया जाता है। 
  • स्टेनलेस स्टील निर्मित बड़ी कडाही
  • स्टील चम्मच
  • कप
  • बेकर
  • मिश्रण के लिए रबर स्पैटूला

आप मशीन के लिए indiamart.com की वेबसाइट पर जाकर अलग अलग टाइप की मशीन की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

लागत (Investment for Bath Soap Business)

साबुन उद्योग (Bath soap making business in hindi)  शुरू करने हेतु आपके पास मिनिमम 25 से 30 लाख रुपये होने चाहिए,  जिसमे आपकी सभी मशीनरी तथा रॉ मैटेरियल्स एवं विज्ञापन खर्च की जरूरतें पूरी हो सकें। किसी भी बिज़नस के शुरुआती दौर में पूँजी ज्यादा लगती है, क्योंकि आपका काफी सारा माल उधार चला जाता है और फिर नया रॉ मैटेरियल्स खरीदने के लिए पैसे नहीं रह जाते हैं इसलिए आपको कोई भी व्यवसाय शुरू करने से पहले यह बात मन में सोंच लेनी चाहिए लेकिन आपको रिस्क तो लेना ही होगा क्योंकि किसी भी बिज़नस का पहला चरण जोखिम ही होता है।  

साबुन बनाने का फुल प्रोसेस (Bath soap manufacturing process) 

आज मै आपको नहाने का साबुन बनाने की पूरी विधि बताता हूँ-

  • सबसे पहले रेडीमेड सोप नूडल्स (जो पाम आयल और कोकोनट आयल से बने होते हैं ) को मिक्सर मशीन में डालकर बारीक किया जाता है। 
  • कुछ समय के बाद इसमें स्टोन पाउडर डालते हैं, ये नूडल्स की मात्रा पर निर्भर करता है इसे लगभग 2 से 3 % तक मिलाया जाता है।
  • स्टोन पाउडर डालने के बाद साबुन में आवश्यकतानुसार रंग और परफ्यूम डालते हैं रंग और परफ्यूम की मात्रा लगभग 1 % तक मिलाते हैं अर्थात प्रति सौ किलोग्राम सोप नूडल्स के पीछे एक किलोग्राम रंग और परफ्यूम मिलाते हैं। 
  • स्टोन पाउडर और सोप नूडल्स को अच्छे से मिला लेने के बाद इसे मिलर मशीन में डाला जाता है।
  • इस मशीन में मिश्रण को और बारीक किया जाता है इसमें कम से कम 3 से 4 बार डालकर खूब बारीक कर लिया जाता है। इस दौरान इसमें 1 %  तक पानी भी मिलाया जाता है। 
  • 15 मिनट के अन्दर इसमें से साबुन तैयार हो जाते हैं जिसे आप अपनी इच्छानुसार साइज़ में कटर से काट सकते हैं। 
  • इसके बाद इस कटे हुए साबुन को सोप प्रिंटिंग मशीन में डाला जाता है जिसमे से डिजाईन होकर साबुन निकलता है जो अब पूरी तरह से पैकिंग के लिए तैयार है। 

पैकेजिंग (Bath soap packaging)

पूरी तरह से तैयार साबुन को अब अच्छे से डिजाईन किये हुए एवं अपना ब्रांड छपे हुए पैकेट में पैक किया जाता है। पैकिंग करते हुए सदैव ध्यान रखना चाहिए की पैकेट अति सुन्दर एवं आकर्षक हो एवं जल्दी फटने वाला न हो, क्योंकि उसे दूर दूर तक भेजना होता है। पैकेट की सुन्दरता देख कर ही लोग आपके साबुन को खरीद लेंगे।   

Bath Soap manufacturing में बरती जाने वाली सावधानियां- 

चूंकि आप नहाने का साबुन बना रहे हैं इसलिए इन बातों का विशेष ख़याल रखें ताकि किसी कस्टमर को कोई शिकायत न रहे।

  1. साबुन की क्वालिटी पर विशेष ध्यान दें आपका साबुन Standard Quality का होना चाहिए। 
  2. साबुन के लिए इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल अच्छी क्वालिटी व ग्रेड का हो। 
  3. साबुन बनाते समय इस बात का भी ख़ास ध्यान रखें कि साबुन का आकार बहुत बड़ा न हो। 
  4. मार्केट्स में साबुन के बहुत से ब्रांड हैं ऐसे में आप अपने साबुन की पैकेजिंग कुछ इस तरह से करें कि यह लोगों को सबसे अलग और आकर्षक दिखे। 
  5. ज्यादातर साबुन को लेकर यह शिकायत रहती है कि वह जल्दी गल जाता है इसलिए आप ऐसा साबुन बनाएं जो ग्राहकों की उम्मीद पर खरा उतर सके। 
bath soap making business
bath soap making business

लाइसेंस (License for bath soap making)

चूंकि साबुन एक ऐसा प्रोडक्ट है जो लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा है। लोग इसे अपने शरीर पर  इस्तेमाल करते हैं यदि इसकी क्वालिटी खराब होगी तो लोगों के शरीर पर इन्फेक्शन हो जायेगा जिससे व्यक्ति को बहुत बड़ी प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए आपको साबुन के PRODUCTION हेतु स्वास्थ्य मंत्रालय के सम्बंधित कार्यालय में जाकर इसके सैंपल को मंजूरी दिलवानी होगी, इसके बाद ही आप नहाने का साबुन बना सकते हो।इसके सिवाय आपको जीएसटी रजिस्ट्रेशन एवं ब्रांड ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा।ब्रांड रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लेना चाहिए ताकि भविष्य में जब आपका साबुन फेमस हो जाय तो कोई दूसरा व्यक्ति आपकी नक़ल करके डुप्लीकेट साबुन आपके नाम पर न बेंचने लगे जिससे आपका क्रेडिट डाउन होगा। अतः आप उपरोक्त लाइसेंस लेने के बाद ही Bath Soap Making Business स्टार्ट करें तो ज्यादा बेहतर रहेगा। 

बिक्री कैसे बढ़ाएं?(how to increase selling)

किसी भी प्रोडक्ट्स की बिक्री ही उस के लाभ का मापदंड होती है यदि बिक्री ही नहीं होगी तो उत्पादन से क्या फायदा। इसलिए आपको भी अपने साबुन की बिक्री बढाने के लिए प्रचार-प्रसार  करना होगा। जगह जगह बैनर पोस्टर लगवाने होंगे। समाचार पत्र पत्रिकाओं में विज्ञापन देना होगा तथा शुरुआती दौर में आप चाहें तो दो चार गाड़ियों पर सेल्समेन रखकर गाँव गाँव जाकर  अपने साबुन का प्रचार करते हुए बेंच सकते हैं उन्हें ऑफर दे सकते हैं एक के साथ एक फ्री या चार साबुन के साथ एक फ्री। इस तरह से और अपने साबुन की खूबियों को जरूर बताएं इन्ही सब उपायों को अपनाकर आप आसानी से अपने प्रोडक्ट्स की बिक्री बढ़ा सकते हैं। 

Benefits from Bath Soap Making Business

इस उद्योग में प्रोडक्ट के मार्केट में एक बार चल जाने के बाद आपको पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ेगा। बस एक बार आप अपने ग्राहकों का विश्वास जीत लो फिर आपको मुनाफा ही मुनाफा  होने वाला है साबुन उद्योग में profit मार्जिन बहुत ज्यादा है और यह ऐसा  प्रोडक्ट है जिसका कारोबार कभी बंद नहीं होने वाला है जब तक धरती पर मनुष्य रहेंगे इन सब प्रोडक्ट्स की मांग सदैव बनी रहेगी। 

निष्कर्ष (CONCLUSION)

दोस्तों हमें आशा एवं पूर्ण विश्वास है की आपको इस पोस्ट को पढ़ने के बाद साबुन बनाने के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी जिससे आपको अभी या भविष्य में Bath Soap Making Business स्टार्ट करने में कोई परेशानी नहीं होगी और आप अपना बिज़नस सही से एवं कुशलतापूर्वक स्टार्ट कर सकेंगे। 

About Ved Prakash Yadav


1 thought on “Bath Soap Making Business in Hindi | Best Formula & Manufacturing Process”

Leave a Comment

Your email address will not be published.