Business Loan Kaise Le | बिज़नेस लोन लेने के लिए योग्यता

Business loan kaise le

बिजनेस शुरू करने के लिए पैसों की जरुरत होती है अगर किसी के पास बिज़नस शुरू करने के लिए पैसे नहीं होते तो लोग ये जरूर सोचते हैं की Business Loan Kaise Le. जिससे हम अपने बिजनेस की शुरुआत कर सकें। अगर कोई व्यक्ति बिना लोन लिए अपने बिजनेस को शुरू भी कर लेता है तो बाद में अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए या व्यापार की अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए लोन लेना ही पड़ता है।

बिजनेस लोन दो तरीके का होता है एक सिक्योर्ड लोन और दूसरा un-secured लोन। सिक्योर्ड लोन व्यक्ति को तभी दिया जाता है जब व्यक्ति बैंक के पास किसी चीज को गिरवी रखता है, और अन-सिक्योर्ड लोन में किसी भी चीज को गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है।

अधिकतर बैंक और NBFC अन-सिक्योर्ड बिजनेस लोन ही देते हैं। कोई भी बिजनेस शुरू करने के लिए न्यूनतम 30,000 और अधिक्ताम 1 करोड़ रूपये का लोन व्यक्ति ले सकता है। बिजनेस को शुरू करने या बिजनेस को बढ़ाने के लिए यदि आप भी बीजनेस लोन लेना चाहते हैं तो ये पोस्ट पूरा अवश्य पढ़ें जिससे आप ये जान पायें कि Business Loan Kaise Le.

इसे अवश्य पढ़ें- प्रधानमंत्री मुद्रा योजना लोन कैसे लें ?

Business Loan Kaise Le

बिजनेस लोन लेने से पहले आपको ये सुनिश्चित करना पड़ेगा कि आप कौन सा बिजनेस करना चाहते हैं। हर बिजनेस के लिए अलग-अलग amount की जरुरत होती है इसलिए सबसे पहले अपना बिजनेस तय करें और फिर उसमे होने वाला investment देखें की कितनी लागत आने वाली है इसके बाद आप लोन के लिए apply कर सकते हैं।

अगर आप किसी भी बैंक से बिजनेस लोन लेना चाहते हैं तो आपको उसका पूरा प्रोसेस जानना होगा। जिस बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं उसका पूरा बिजनेस प्लान बनायें। साथ ही जिस भी बैंक से लोन लेना चाहते हैं उसको अपने बिजनेस के बारे में जरूर बताएं। इसके बाद लोन लेने के अमाउंट को तय करें तथा अपने क्रेडिट स्कोर के बारे में भी पता करें। ये तो बात हुई Business Loan Kaise Le आइये अब कुछ और जानकारी जानते हैं इसके बारे में।

बिजनेस लोन के लिए कौन-कौन आवेदन कर सकता है?

  • स्वयं रोजगार, पेशेवर व्यक्ति जो खुद का बिजनेस करना चाहते हैं
  • प्राइवेट limited कंपनियां तथा पब्लिक limited कंपनियां
  • एक मालिकाना अधिकार वाली कंपनी
  • व्यापार या सेवा क्षेत्र की बड़ी कंपनियां
  • NGO
  • Co-operative Society
  • CA, Architect,
  • उद्दमी
  • पार्टनरशिप फर्में

बिजनेस लोन के लिए apply करने की योग्यता

  • मौजूदा बिजनेस कब से चल रहा है 1 साल या इससे अधिक समय से
  • वर्तमान बिजनेस का सालाना टर्नओवर न्यूनतम 12 लाख होना चाहिए
  • क्रेडिट स्कोर 750 या 750 से ज्यादा होना चाहिए
  • पिछला कोई बैंक लोन डिफ़ॉल्ट रिकॉर्ड न हो

बिजनेस लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • Voter Id
  • Passport size photo
  • बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट
  • ITR file करने की copy
  • Business का Registration Proof
  • जमीन के मालिकाना हक़ का प्रूफ

बिजनेस लोन की ब्याज दरें

हर बैंक का ब्याज दर अलग-अलग होता हैं वैसे तो बिजनेस लोन की ब्याज दर 14.99 % प्रति वर्ष से स्टार्ट हो जाता है। अगर आवेदक की क्रेडिट प्रोफाइल अच्छी है तो ब्याज दर कम लगता है अगर अच्छी नहीं है तो थोडा ब्याज दर अधिक देना पड़ सकता है। बिजनेस लोन लेने के लिए ब्याज दर लोन राशि व भुगतान अवधि पर निर्भर करता है।

भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली लोन योजना

  • Mudra Loan Yojana
  • Pradhan Mantri Rojgar Yojana
  • Pradhan Mantri Rojgar Srijan Yojana
  • Stand Up India
  • Start Up India
  • Credit Guarantee Yojana

बिजनेस लोन के प्रकार

टर्म लोन- टर्म लोन के अंतर्गत शार्ट टर्म लोन और लॉन्ग टर्म लोन आता है। टर्म लोन को दो भागों में विभाजित किया गया है पहला सिक्योर्ड लोन और दूसरा अन सिक्योर्ड लोन। बैंक से लोन लेने के लिए सिक्योर्ड लोन में आपको बैंक को security/guarantee देनी होती है, जबकि unsecured लोन में इसकी जरुरत नहीं होती है। इस तरह के लोन का भुगतान 12 महीने से 5 साल तक में किया जा सकता है।

वर्किंग कैपिटल लोन- इस तरह का लोन व्यापार की जरूरतों को पूरा करने के लिए दिया जाता है। इसके अलावा व्यापर को बढाने के लिए, मशीनरी या उपकरण, कच्चा माल खरीदने के लिए काम करने वाले श्रमिक को वेतन और किराये पर लिए हुए जमीन का किराया देने के लिए ये लोन लिया जा सकता है।

बिल डिस्काउंटिंग लोन – इस तरह का लोन बैंक और NBFC देते हैं विक्रेता जो सामान उधार देता है उसके बदले खरीदार विक्रेता को रसीद देता है। वो रसीद विक्रेता बैंक में जाकर जमा करता है और बैंक विक्रेता को कुछ धनराशी काटकर दे देता है जब खरीदार बैंक को रसीद का भुगतान करता है तो बची हुई राशि बैंक खुद रख लेता है।

लैटर ऑफ क्रेडिट- इस तरह के लोन का उपयोग अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में import-export बिजनेस में किया जाता है क्योंकि यहाँ पर अन्य देशों के सप्लायर के साथ काम करना होता है जिनको ये गारंटी चाहिए होती है की हमें हमारा पैसा समय पर मिल जाय ये गारंटी उद्योग की ओर से बैंक लैटर ऑफ क्रेडिट जारी करके देता है।

ओवरड्राफ्ट लोन- जो व्यक्ति ओवरड्राफ्ट लोन लेना चाहता है उसको ओवरड्राफ्ट अकाउंट दिया जाता है इस ओवरड्राफ्ट अकाउंट से आप सीमित राशि तक ही पैसे निकाल सकते हैं इस तरह के लोन पर केवल निकाले गए धनराशी पर ही ब्याज देना होता है।

उद्योग आधार registration कैसे करें ?

दोस्तों अब आपको ये पता चल गया होगा कि business loan kaise le अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट करके जरूर बताएं और ये भी बताएं कि आप किस बिजनेस की जानकारी जानना चाहते हैं धन्यवाद।

About Amit Kumar

Hello Friends! मेरा नाम अमित कुमार है, मैं एक फुल टाइम Youtuber और Blogger हूँ. मेरा मकसद उन लोगों को आगे बढाने का है जो लोग बिज़नस करके आगे बढ़ना चाहते हैं लेकिन कुछ लोगों को सही जानकारी न होने के कारण आगे नहीं बढ़ पाते हैं. इस ब्लॉग पर आपको नई-नई बिज़नस Read More


Leave a Comment

Your email address will not be published.