How to Start Cement Dealership? | सीमेंट की फ्रैंचाइज़ी/एजेंसी कैसे लें ?

Cement dealership

Cement Dealership जी हाँ दोस्तों जैसा की आप लोगों ने एक वाक्य सुना होगा मानव की प्राथमिक आवश्यकता होती है रोटी,कपड़ा और मकान। मानव की प्राथमिक जरूरतों में खाने के लिए भोजन, पहनने के लिए वस्त्र के बाद तीसरी आवश्यकता घर की होती है। घर शब्द का नाम आते ही एक शब्द याद आता है सीमेंट। जिसके बगैर पक्के घर की कल्पना करना भी व्यर्थ है सीमेंट एक ऐसा पदार्थ है जिसको बालू के साथ मिलाकर ईंट से ईंट जोड़ा जाता है जिससे बड़े-बड़े भवनों का निर्माण किया जाता है।

अब दिन प्रतिदिन जैसे-जैसे लोगों की आमदनी बढ़ रही है लोग अच्छे-अच्छे मकानों में रहना चाहते हैं और अपना मनपसंद मकान बनवा रहे हैं, फलस्वरूप  सीमेंट की मांग दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है ऐसे में अगर आप बड़ी पूँजी के अभाव में सीमेंट की फैक्ट्री नहीं लगा सकते हैं परन्तु कम पूँजी में ही Cement Ki Franchise जरूर ले सकते हैं और बढ़िया आमदनी कमा सकते हैं। आजकल सीमेंट उद्योग से जुड़ी कई फैक्ट्रियां हैं जैसे एसीसी, अम्बुजा, जेपी, अल्ट्राटेक, बांगर सीमेंट, बिरला सम्राट, श्री जंग रोधक सीमेंट आदि। अब इनमे से किसी एक को चुनकर सीमेंट की एजेंसी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

आज के इस पोस्ट में मैं आप लोगों को Cement Dealership कैसे लें इसकी सम्पूर्ण जानकारी देने वाला हूँ जिसे आप पढ़कर अपना बिज़नस स्टार्ट कर सकते हैं और अपना जीवन सफल बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- सीमेंट ईंट बनाने की फैक्ट्री कैसे लगाएं ?

फ्रैंचाइज़ी या एजेंसी है क्या ?(What is cement dealership/franchise)

जितनी भी बड़ी-बड़ी कंपनीज हैं वें अपने प्रोडक्ट की बिक्री को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना चाहती हैं इसके लिए वह देश के विभिन्न भागों तक अपनी पहुँच बढाने के लिए अपना ब्रांच open करवाती हैं और अपने प्रोडक्ट को बेंचने के लिए किसी व्यक्ति या संस्था को प्राधिकृत करती हैं जो उनकी पात्रता की शर्तों को पूरा करता हो इसे ही फ्रैंचाइज़ी या एजेंसी कहते हैं इसी प्रकार आप भी किसी सीमेंट कंपनी का फ्रैंचाइज़ी ले सकते हैं।

Cement ki agency kaise le

फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए सर्वप्रथम क्या करें ?(How to start cement agency)

जब आप किसी सीमेंट कंपनी की एजेंसी खोलना चाहते हैं तो आपको अपने एरिया में सर्वे के जरिये पता करना होगा की लोग किस सीमेंट को ज्यादा खरीदते हैं, कौन सी कंपनी में विश्वास रखते हैं, किस कंपनी की सीमेंट ज्यादा बिकेगी आदि प्रश्नों के उत्तर ढूढ़ने की कोशिश कीजिए, तत्पश्चात आपको अनुभव हो जायेगा की किस कंपनी की एजेंसी लेने में फायदा है इस प्रकार आप निर्णय लेने में सक्षम होंगे और आपका व्यापार दिन रात ग्रो करेगा।

भारत की कुछ प्रमुख सीमेंट कंपनियां

  • ACC यह भारत में सबसे ज्यादा बिकने वाली सीमेंट कंपनी है इस सीमेंट की मांग लोगों के बीच सबसे ज्यादा रहती है यह ACC Plain तथा ACC Gold दो केटेगरी में आती है इसकी कंकरीट को मजबूती से पकड़ने की क्षमता और सीलन रोधी होने के कारण ही सबसे अलग रखती है।
  • Ambuja यह भी बहुत ही लोकप्रिय सीमेंट है acc के बाद यह सबसे ज्यादा बिकने वाली सीमेंट है यह भी Ambuja Plain तथा Ambuja Compocem के नाम से आती है। यह भी अपनी मजबूती के लिए जानी जाती है आजकल इसकी मांग acc की तुलना में ज्यादा होने लगी है।
  • Ultratech यह सीमेंट भी ग्रामीण क्षेत्र में बहुत बिकती है यह उपरोक्त दोनों सीमेंट की तुलना में किफायती होती है इसकी मजबूती भी कमतर नहीं आंकी जा सकती है किफायती होने के कारण यह ग्रामीण क्षेत्र में काफी प्रचलित है यह बिरला ग्रुप की ही सीमेंट है।
  • Birla Samraat यह सीमेंट भी किफायती और टिकाऊ मानी जाती है किफायती होने के कारण गाँव में इसका प्रचालन ज्यादा रहता है।
  • Shri Jangrodhak सीमेंट
  • Bangur सीमेंट
  • Mycem सीमेंट  

फ्रैंचाइज़ी के लिए आवश्यक जगह, फर्नीचर एवं उपकरण 

Cement Ki Franchise लेने के लिए आपके पास कम से कम 500 वर्गफुट जगह की आवश्यकता होगी जिसमे सीमेंट रखने हेतु गोदाम तथा एक ऑफिस बनाया जा सके तथा वहां पर भारी वाहन का आवागमन हो सके जिससे माल को आसानी से एवं समय पर पहुचाया जा सके। इसके अलावा एक कंप्यूटर, प्रिंटर आदि की भी व्यवस्था होनी चाहिये अगर आपके पास कंप्यूटर की व्यवस्था नहीं है तो भी चल सकता है परन्तु आपको सारा लेनदेन का रिकॉर्ड रजिस्टर में दर्ज रखना होगा ऑफिस में कस्टमर के बैठने हेतु कुछ फर्नीचर की भी व्यवस्था होनी चाहिये। 

फ्रैंचाइज़ी लेने हेतु आवश्यक दस्तावेज

आप जिस भी कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेना चाहते हो आपको निम्नलिखित दस्तावेज लगाना होगा –

  • आईडी प्रूफ- इसके लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड आदि में कोई एक होना चाहिये।
  • एड्रेस प्रूफ- निवास प्रमाण पत्र,राशन कार्ड, इलेक्ट्रीसिटी बिल आदि में से कोई एक।
  • बैंक अकाउंट के पासबुक की छायाप्रति।
  • फोटोग्राफ (आपका कलर फोटो), ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि सभी।
  • अन्य आवश्यक दस्तावेज- मकान यदि निजी है तो स्वामित्व का पेपर अन्यथा किराए पर होने की स्थिति में किरायानामा लगेगा साथ ही Tin NO. और GST NO. लगेगा।

इसे भी पढ़ें-प्रधानमंत्री मुद्रा लोन कैसे प्राप्त करें ?

फ्रैंचाइज़ी हेतु सिक्योरिटी मनी (Security money for cement dealership)

किसी भी सीमेंट कंपनी की फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए आपको एक निश्चित धनराशि कंपनी के नाम जमा करनी पड़ती है ताकि कंपनी को आप पर विश्वास हो जाय। आपकी यह राशि बिल्कुल सुरक्षित रहती है और फ्रैंचाइज़ी के विघटन की दशा में आपको ब्याज समेत वापस कर दी जाती है यह राशि भिन्न- भिन्न कंपनियों में अलग-अलग हो सकती जैसे 100000, 200000, 300000  या इससे अधिक भी हो सकती है।

फ्रैंचाइज़ी लेने हेतु कुल आवश्यक पूँजी

यदि आपके पास गोदाम एवं ऑफिस बनाने के लिए खुद अपनी जमीन है या बना हुआ मकान है तो कम पूँजी से ही शुरुआत हो सकती है अन्यथा मकान किराए पर लेकर एजेंसी चलाना थोड़ा सा महंगा पड़ सकता है क्योंकि एजेंसी लेते समय आपको मकान का कम से कम एक साल का किरायानामा लगाना पड़ता है जो की मकान मालिक को किराया भुगतान के बाद ही बनेगा इसके सिवा सिक्योरिटी मनी, माल खरीदने एवं ऑफिस डेकोरेशन इत्यादि को मिलाकर लगभग 250000 से 300000 रुपये तक मिनिमम  लगने ही हैं यह मैं कम से कम बता रहा हूँ माल ज्यादा मंगाने पर यह राशि बढ़ भी सकती है कुल लागत की बात की जाय तो 4 से 5 लाख रुपये तक लग सकते हैं। 

फ्रैंचाइज़ी लेने हेतु आवश्यक प्रोसेस

किसी भी कंपनी की cement dealership लेने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके नजदीकी क्षेत्र में किसी ने उस कंपनी की फ्रैंचाइज़ी तो नहीं ले रखी है तभी आप उस कंपनी के फ्रैंचाइज़ी के लिए आवेदन करें। आवेदन का स्वरुप ऑनलाइन ही होता है इसके लिए आपको उस कंपनी के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होता है कुछ प्रमुख सीमेंट कंपनियों की ऑफिसियल वेबसाइट निम्नलिखित हैं –

उपरोक्त वेबसाइट पर जाकर आप अपना आवेदन फॉर्म सभी आवश्यक दस्तावेज लगाकर Fill कर सकते हैं। इसके बाद कंपनी आपके आवेदन पर विचार करती है, यदि आप उसकी  पात्रता के मापदंड को पूरा करते हैं तो आपको फ्रैंचाइज़ी मिल सकती है तथा कंपनी आपसे कुछ जरुरी डॉक्यूमेंट पर नोटरी के साथ साइन करवाती है और आपको फ्रैंचाइज़ी मिल जाती है तथा आपको सिक्यूरिटी मनी भरना पड़ता है।

इस प्रकार से आप cement dealership लेकर अपना बिज़नस स्टार्ट कर सकते हैं या आप उक्त कंपनी के मार्केटिंग ऑफिसर से मिलकर फ्रैंचाइज़ी मिलने या न मिलने की पूरी जानकारी ले सकते हैं, क्योंकि मार्केटिंग ऑफिसर के पास उस क्षेत्र में कितनी मांग है और किसी को फ्रैंचाइज़ी देने की आवश्यकता है या नहीं आदि की पूरी जानकारी होती है।

Cement dealership
Cement dealership

बिक्री कैसे बढ़ाएं?

सिर्फ फ्रैंचाइज़ी मिल जाने से आपको मुनाफा नहीं मिलने लगता है यह तो आपके बिक्री की दर पर निर्भर करता है की 1 महीने की आपकी सेलिंग क्या है जितनी ज्यादा बिक्री होगी उतना ही अधिक मुनाफा होगा इसके लिए आपको विभिन्न बिल्डिंग constructor, रियल स्टेट कारोबारियों, राजगीरों, ग्रामप्रधान एवं भवन निर्माण से जुड़े अन्य लोगों से संपर्क रखना होगा, उनको कुछ कमीशन भी दे सकते हैं बल्क में आर्डर करने वाले ग्राहकों को कुछ रियायती दर पर सीमेंट देना होगा। सबसे अच्छा व्यवहार बनाना होगा जिससे आपके सीमेंट की बिक्री दिन-प्रतिदिन बढ़ सके।

इसे भी पढ़ें-   डिस्पोजल सिरिंज बनाने का व्यवसाय कैसे शुरू करें ?

Cement की फ्रैंचाइज़ी से होने वाला मुनाफा (cement dealership profit)

जहाँ तक इस व्यवसाय में मुनाफे की बात की जाय तो प्रति बोरी के पीछे लगभग 10 से 12 रुपये का लाभ मार्जिन आता है  यदि आप प्रतिदिन 100 बोरी सीमेंट ही बेंच देते हो तो 100 x 10 = 1000 रुपये एक दिन तथा 1000 x 30 = 30000 रुपये तक एक महीने की आय हो सकती है। यदि आप अपने शॉप में सरिया,बालू ,गिट्टी तथा अन्य बिल्डिंग मटेरियल को रखते हैं तो इससे आपकी होने वाली आय में इजाफा हो सकता है क्योंकि जो व्यक्ति आपके यहाँ से सीमेंट लेगा वो अन्य सामग्री भी आपसे ही लेगा। इस तरह से आप लाखों रूपये महीना भी कमा सकते हैं।

निष्कर्ष-

दोस्तों हमें आशा है कि आपको Cement dealership लेने के लिए जितनी जानकारी चाहिये थी वह लगभग आपको मिल गयी होगी जिससे आप अपना व्यवसाय शुरू कर सको मेरा उद्देश्य तो आपको प्रोत्साहित करना होता है आपके अन्दर बिज़नस करने की सोंच पैदा करना होता है आपको जो भी जानकारी अधूरी लगती है प्लीज आप उस कंपनी के टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके इनक्वायरी कर सकते हैं धन्यबाद।

इसे भी पढ़ें-गूगल से पैसे कैसे कमाए ?

About Ved Prakash Yadav


Leave a Comment

Your email address will not be published.