Peanuts Chikki making business plan in Hindi || मूंगफली से पापड़ी बनाने का व्यवसाय

Peanuts chikki making business

peanuts chikki making business भारत में तेजी से उभरते हुए बिज़नस में से एक है, क्योंकि चिक्की खाने वालों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है। भारत की जनसँख्या अत्यधिक होने के कारण यहाँ उपभोक्ताओं की कमी नहीं है। यहाँ बच्चे, बूढ़े, जवान सभी लोग इसे बड़े चाव से खाना पसंद करते हैं। आप ने देखा होगा कि रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और अस्पतालों व मार्केट में भीड़-भाड़ वाली एरिया में स्टाल व रेड़ी पर चिक्की की दुकानों को लगे हुए देखा होगा। इन दुकानों पर चिक्की खरीदने वालों की भीड़ लगी रहती है।

यदि आप भी चिक्की बनाने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हो तो कम पूँजी में आपके लिए यह बहुत सुनहरा अवसर है। आप यह बिज़नेस स्टार्ट करके अच्छा मुनाफा कमा सकते हो आज के इस पोस्ट में मैं आप लोगों को peanuts chikki making business शुरू करने के बारे में पूरी जानकारी दूंगा ताकि आप भी इस आर्टिकल को पढ़कर अपना बिज़नस आसानी से शुरू कर सको। 

 इसे भी पढ़ें- नमकीन बिस्कुट बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें ?  

चिक्की या पापड़ी क्या है ?

चिक्की एक बहुत ही स्वादिष्ट और पौष्टिक खाद्य पदार्थ है, जो मूंगफली और गुड़ से बना होता है। यह सर्दियों के महीने में सबसे ज्यादा खाये जाने वाले खाद्य पदार्थों में से एक है। यह खाने में बहुत ही स्वादिष्ट लगता है। इसकी तासीर बहुत गरम होती है। मूंगफली में आयरन, नियासिन फोलेट कैल्शियम और जिंक आदि तथा विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। चिक्की मे मूंगफली के साथ गुड़ मिलाने से इसकी पौष्टिकता और अधिक बढ़ जाती है।   

यह किससे बनता है? (Chikki making raw material)

peanuts chikki making business स्टार्ट करने के लिए निम्नलिखित कच्चे माल की जरूरत होगी-

  • मूंगफली-  चिक्की बनाने में सबसे मुख्य कच्चा माल मूंगफली ही है, मूंगफली के दाने का  इस्तेमाल चिक्की बनाने में किया जाता है। 
  • गुड़-  मूंगफली के दानों में गुड़ मिलाया जाता है जिससे दाने एक दूसरे से चिपक जाते हैं और  स्वादिष्ट भी हो जाते हैं। 
  • गरी-  चिक्की में गरी मिलाने से चिक्की और अधिक स्वादिष्ट और पौष्टिक हो जाती है। 
  • बादाम-  बादाम एक बेहद गुणकारी सुखा मेवा है जिसे चिक्की में मिलाया जाता है। 
  • इलायची-  चिक्की में इलायची मिला देने से इसका स्वाद लाजबाब हो जाता है। 

बाज़ार में इसकी मांग कितनी है ?

जहाँ तक बाज़ार में चिक्की की मांग की बात है तो ज्यादातर यही देखा गया है कि इसकी मांग ज्यादा और आपूर्ति कम रहती है इसके वजह से यह बहुत महंगे रेट पर बिकती है।इसकी जबरदस्त मांग सर्दियों के महीनों में होती है क्योंकि इसको खाने से शरीर को गर्मी मिलती है। चिक्की बनाने का बिज़नेस ही एक ऐसा बिज़नस है जिसमे अभी तक किसी बड़ी कंपनी का एकाधिकार नहीं हुआ है जबकि चिक्की की मांग मार्केट में बहुत ज्यादा है। बाज़ार की सारी आवश्यकताएं स्थानीय चिक्की उत्पादकों द्वारा ही पूरी कर ली जाती है, ऐसे में अगर आप इसका बड़े स्तर पर औद्योगिक उत्पादन करना चाहते हैं और चिक्की उत्पादन के क्षेत्र में अपना एक बड़ा ब्रांड बनाना चाहते हैं तो यह आपके लिए स्वर्णिम अवसर होगा।   

इसकी फैक्ट्री कहाँ और कितने जगह में लगायी जा सकती है ?

चिक्की बनाने की फैक्ट्री उस एरिया में लगाना ज्यादा फायदेमंद होगा जहाँ मूंगफली का अत्यधिक उत्पादन होता है। यहाँ पर आपको कच्चा माल आसानी से सस्ते दर पर मिल जाता है ऐसा नहीं है कि जहाँ पर मूंगफली का उत्पादन नहीं होता है वहां पर फैक्ट्री नहीं लगा सकते हैं बिलकुल लगा सकते हैं, बशर्ते आपको मूंगफली दूर से मंगानी पड़ेगी जो थोड़ा costly पड़ेगा लेकिन आप अच्छे क्वालिटी की चिक्की बनाकर और इसे महंगे दर से बेंचकर इसकी भरपाई कर सकते हो। चिक्की बनाने के plant हेतु 500 वर्गफुट जगह बहुत पर्याप्त है जिसमे सभी मशीन व गोदाम आसानी से स्टैब्लिश किये जा सकते हैं।  

Peanuts chikki making business
Peanuts chikki making business

कितने पूँजी निवेश की आवश्यकता होगी ? (Chikki Manufacturing Project Report)

मूंगफली से चिक्की का वृहद् स्तर पर उत्पादन करने के लिए आपको मशीनें खरीदने एवं अन्य सभी शुरुआती जरूरी खर्चों को मिलाकर लगभग ढाई से तीन लाख रुपये की आवश्यकता होगी। इसके अलावा रॉ मटेरियल पर लागत अलग से आएगी यह लागत आपके ऊपर निर्भर करती है कीकितने कच्चे माल से आप शुरुआत करना चाहते हैं उसी के अनुसार पूँजी निवेश बढ़ जायेगा। 

आवश्यक मशीनें व उपकरण (Peanuts Chikki Making Machine)

औद्योगिक स्तर पर मूंगफली की चिक्की बनाने के लिए निम्नलिखित मशीनों की आवश्यकता होती है 

  • पीनट्स रोस्टर मशीन- यह मशीन मूंगफली को भूनने के काम आती है। 
  • छिलका हटाने वाली मशीन-  इस मशीन से मूंगफली के छिलके हटाये जाते हैं। 
  • मिक्सर मशीन-  इस मशीन की सहायता से सभी रॉ मटेरियल जैसे मूंगफली, गुड़ , बादाम और  इलायची को मिक्स किया जाता है जिससे एक पेस्ट तैयार हो जाता है। 
  • शीटिंग और कटिंग मशीन-  इस मशीन की सहायता से पेस्ट को शीट के रूप में तैयार किया जाता है।

इन सभी मशीनों को आप इंडियामार्ट की वेबसाइट www.indiamart.com पर ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं।  

लाइसेंस 

चिक्की एक मीठा खाद्य पदार्थ है इसलिए इसका FSSAI से रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। इसके अलावा आपको जीएसटी का रजिस्ट्रेशन भी करवाना पड़ेगा जोकि किसी भी व्यवसाय के सफल संचालन हेतु आवश्यक है। इन सबके अलावा यदि आप अपने बिज़नस को एक विस्तारित रूप प्रदान करना चाहते हैं तो अपना ब्रांड नेम भी रजिस्टर करवा सकते हैं।  

चिक्की कैसे बनता है ? (Peanuts Chikki Manufacturing Process)

peanuts chikki making business में औद्योगिक स्तर पर मूंगफली से चिक्की बनाने में  निम्नलिखित प्रोसेस अपनाया जाता है, फिर भी आप इस बिज़नस को शुरू करने से पहले Chikki making training जरूर ले लें।

  • रोस्टर मशीन में भूनना- सबसे पहले मूंगफली को रोस्टर मशीन में डालते हैं जहाँ इसे अच्छी तरह  से तब तक भुना जाता है जब तक कि मूंगफली लाल और क्रंची न हो जाय जब पूरी तरह से  मूंगफली भुन जाती तो उसे इस मशीन से निकाल लिया जाता है। 
  •  छिलका हटाना- इसके बाद मूंगफली के छिलके हटाने के लिए इसे छिलका रिमूवर मशीन में  डालते हैं जहाँ आसानी से छिलके बाहर निकल जाते हैं।
  • मिक्सर मशीन में मिक्स करना- अगले चरण में इस मूंगफली के दाने और गुड़ तथा अन्य सभी मटेरियल जैसे गरी बादाम इलायची आदि को मिक्सर मशीन में डालते हैं जो इन सभी को खूब अच्छे से मिला देती है और एक गाढ़ा पेस्ट बन जाता है।
  • शीटिंग एंड कटिंग प्रोसेस- अब इस गाढ़े पेस्ट को शीटिंग एंड कटिंग मशीन में डालते हैं जो इसे एक शीट के रूप में निकालता रहता है जिसे इसमें लगे कटर इसको चौकोर या गोल आकार में काटते रहते हैं अब ये पूरी तरह से खाने के लिए तैयार हो जाता है जिसे चिक्की कहते हैं।  

अवश्य पढ़ें- गुड़ बनाने का बिज़नस कैसे शुरू करें ?

पैकिंग 

चिक्की की पैकिंग करने के के लिए किसी पैकेट की आवश्यकता नहीं होती है बल्कि इसको  पोलीथिन के बड़े बड़े थैलों में ही पैक कर दिया जाता है जिसके लिए किसी मशीन की जरूरत नहीं होती है इसे हाथ से भी किया जा सकता है। चिक्की को पोलिथीन में बराबर मात्रा में भरकर पोलीथिन को सील कर देते हैं, हाँ इन पोलीथिन के थैलों में अपने कंपनी का ब्रांड नेम या logo जरूर छपवा सकते हैं जिससे आपके कंपनी के प्रोडक्ट की पहचान मार्केट में बनी रहे। 

Peanuts chikki making business
Peanuts chikki making business

मार्केटिंग 

चिक्की की ज्यादा से ज्यादा बिक्री हेतु आपको अपने आसपास के लोकल मार्केट्स में ठेला रेड़ी लगाने वाले लोग, बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, अस्पताल, विशेष आयोजन एवं मेले आदि में चिक्की, लाई आदि की दूकान लगाने वालों से संपर्क करके उनको होलसेल रेट पर थोक मात्रा में अपना माल सप्लाई कर सकते हैं। जिन दुकानों पर मुरमुरे, बताशा, गट्टा, पेठा, भूजा, चना आदि बिकते हैं उन्ही दुकानों पर चिक्की भी बिकता है इसलिए ऐसे लोगों से संपर्क करके उन्हें माल भेज कर अपने बिज़नस की बिक्री बढ़ा सकते हैं। आपको अपने चिक्की की क्वालिटी पर विशेष ध्यान देना होगा जिससे चिक्की स्वादिष्ट और क्रंची (खस्ती) बने माल सही होने पर बिक्री होना तो स्वाभाविक है। 

प्रॉफिट 

चिक्की बनाने के बिज़नस में मुनाफा बहुत ज्यादा है क्योंकि यह देखा जाय तो इसमें आने वाली  कुल लागत से यह दुगुने रेट पर बिकता है।इस बिज़नस में कमाई के ज्यादा अवसर हैं बस बिक्री पर ध्यान देने की आवश्यकता है जितनी ज्यादा बिक्री होगी उतने ही ज्यादा आपका मुनाफा बढ़ेगा। इस बिज़नस का भविष्य बहुत अच्छा प्रतीत हो रहा है जिससे आपके कमाई के चांसेस बढ़ते  जायेंगे।   

निष्कर्ष

दोस्तों मुझे उम्मीद एवं पूर्ण विश्वास है कि आप लोगों को यह पोस्ट peanuts chikki making business कैसे स्टार्ट करें’ बहुत अच्छा एवं ज्ञानवर्धक लगा होगा फिर भी आप इस व्यवसाय को शुरू करने से पहले पूरी जानकारी अवश्य कहीं से प्राप्त कर लें तभी इस व्यवसाय को शुरू करें। यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो प्लीज मुझे कमेन्ट करके बताइये और अपने दोस्तों को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिये आपके कमेन्ट से हमें और अधिक प्रेरणा मिलती है जिससे हम आपके लिए और अधिक नए नए बिज़नेस आइडियाज ला सकें धन्यवाद।  

About Ved Prakash Yadav


Leave a Comment

Your email address will not be published.